विषय विचारों की सुरक्षा

प्रश्न – आर टी चेन्ज विचारों के बैंक में विचारों की सुरक्षा के लिय क्या व्यवस्था है ?

प्रश्न – हमारे विचारों की सुरक्षा क्या है ? हमारा विचार किसी और के नाम नही होगा इस बात की कितनी पारदर्शिता है ?

उत्तर – विचारों के बैंक का निर्माण विचारों की सुरक्षा के लिय ही हुआ है। विचारों के बैंक में आप के विचारों की सुरक्षा के लिय निम्न सिद्धान्त व शर्तोे को लागू किया गया है —

1 – विचारक के विना अनुमति के किसी और व्यक्ति को विचार देना वर्जित है ।(केवल गोपनीय विचार पर लागू)

2 – जैसे ही आप का विचार विचार बैंक को प्राप्त होता है वही समय ,दिन ,व विचार क्षेत्र आप के नाम के साथ एक खाता बना कर आप का विचार आप के ही खाते में दर्जकर दिया जाता है ।आप के खाते व नाम के साथ ही आप के विचार को तीन अलग अलग स्थानो पर सुरक्षित रखा जाता है। जिसकी अपनी गोपनीय व्यवस्था है ।

प्रश्न – हमारा विचार किसी और के नाम नही होगा इस बात की कितनी पारदर्शिता है ?

उत्तर – जैसे ही आप का विचार विचार बैंक में आता है आप का विचार समय ,दिन , विचार क्षेत्र व आगमन संख्या आप के नाम के साथ विचार बैंक पत्र में प्रकासित कर दिया जाता है प्रकाशन के उपरान्त किसी भी प्रकार के हस्तक्षेप की सम्भावना नही रह जाती है आप को जब भी सन्देह हो आप अपने विचार पंजीकरण की तिथि से पहले का विचार बैंक पत्र का प्रकाशन देखकर इस बात की पुष्टि कर सकते हैं कि आप का विचार नव विचार है या सम विचार है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.