विद्यार्थियों द्वारा प्राप्त विचार

विद्यार्थियों द्वारा प्राप्त विचार जिनको विचार बैंक द्वारा संग्रहित किया गया है
1-सकारात्मक प्रयास सुनहरा भविष्य लेकर आता है।

नाम- संगीता कक्षा- 11 C
नेहरू इण्टर काॅलेज गुलडिया भिण्डारा मझोला पीलीभीत

2- अच्छी बात चाहे किसी ने भी कही हो,बेहतर है कि गौर से सुनो

नाम- संगीता कक्षा- 11 C
नेहरू इण्टर काॅलेज गुलडिया भिण्डारा मझोला पीलीभीत

3- क्या नारी पुरूष के मार्ग की बाधक है?

नाम- सोनी, कक्षा- 7
नेहरू इण्टर काॅलेज गुलडिया भिण्डारा मझोला पीलीभीत

4-सफलता कोई आसानी से मिल जाने वाला वरदान नही हैं।

नाम- अनीला राठौर कक्षा- 11 C
नेहरू इण्टर काॅलेज गुलडिया भिण्डारा मझोला पीलीभीत

5- एक ऐसी मशीन का निर्माण किया जाए जो एक खेत चाहे कितना भी लम्बा चैडा हो , फिर भी उसकी जांच एक कोने से हो सकें, और वह कमी पूर्ण कर सकें अच्छा लाभ ले सके।

6- किसी भी प्रकार का वाहन हो उसमें एक ऐसा बटन का निर्माण हो जो कि किसी भी प्रकार की कमी होने से पहले ही वाहन चालक को सूचित कर दें ताकि मनुष्य उसका समाधान आराम से ठीक करा सकें ।

नाम- ऋषभ कुमार वर्मा कक्षा 11अ
नेहरू इण्टर काॅलेज गुलडिया भिण्डारा मझोला पीलीभीत

7- हमारे देष में राजनीतिक दलों की कोई कमी नही हैं, एक से बढ कर एक अच्छा राजनेता हैं मेरी समझ से अगर सभी राज नेता सिर्फ एक पार्टी में रहकर राजनीति करें तो इससे हमारे देश में अव्छा सुधार हो सकता है।

नाम- राहुल कुमार कक्षा -11 अ
नेहरू इण्टर काॅलेज गुलडिया भिण्डारा मझोला पीलीभीत

8- विषय – दहेज प्रथा हमारे समाज मे दहेज का प्रयोग अति प्राचीन काल से हो रहा है विवाह के अवसर पर कन्या को उपहार स्वरूप दिया जाने वाला धन, वस्त्र आभूषण और अन्य वस्तुएँ दहेज कहलाती है लेकिन गरीबी हालत में लोग नही दे पाते लेकिन ऐसा सोचना अथवा करना बुरा नही तथा अब इसके पीछे वसूल करने की भावना प्रबल होती जा रही है तथा बेटे बेटियाँ दोनो को पूरा अधिकार तथा सम्मान दिया जाऐं।

नाम-संगीता राठौर कक्षा- 9 ब
नेहरू इण्टर काॅलेज गुलडिया भिण्डारा मझोला पीलीभीत

9- धर्म के नाम पर लूट क्यों, देष में रिष्वत खोरी क्यों

नाम- हर सिमरन सिंह कक्षा- 12
नेहरू इण्टर काॅलेज गुलडिया भिण्डारा मझोला पीलीभीत

10-मेरा विचार यह है कि हमारे देषमें दिन प्रति दिन मंहगाई बढती जा रही हैं जिससे हमारे देषके कोने – कोने में बसे कुछ गरीब लोग जो ठीक प्रकार लेकर कुद खा पी नही सकते तथा ठीक प्रकार कपडे नही पहन सकते तथा अपने बच्चों को पढा लिखा नही सकते। अगर हमारे देषके बच्चें पढ नही सकेगे तो हमारा देष आगे कैसे बढेगा । आखिर बच्चें ही देष का भविष्य हैं। फिर भी सरकार को कोई परवा नही हैं। अगर ऐसी ही महंगाई रहेगी तो गरीब जनता सरकार बनाने की उम्मीद छोड देगी।
अगर पढेगा नही Indian
तो बढेगी नही India

नाम- आरती रानी कक्षा 9 C

11- मेरे प्रिय अध्यापक मेरी आप लोग से यही निवेदन है कि मेरे धर तक रोड बहुत खराब है। और हाई स्कूल में प्रथम आना चाहता हूं। और मैं बहुत कष्ट से पढाई कर रहा हूं। मैं सुबह तीन बजे उठता हूं, और फ्रेष होकर 5 बजे घर से चलता हूं, 6 बजे माधौटान्डा आ जाता हूं, फिर कोचिंग करके 8 बजे स्कूल आ जाता हूं। यदि सडक बन जाये तो मैं पढने में कामयाब हो सकता हॅू

नाम- विनोद कुमार पता- परसरामपूर माधौटान्डा पुरनपूर पीलीभीत
कक्षा- 10 ए0 एस0 एकेडमी जू0 हा0 स्कूल माधौटान्डा पुरनपूर पीलीभीत

12- अक्लमन्द का सीना उसके राजो का बेहतरीन सन्दूक है, सबसे बेहतरीन शख्स वो है जो अपना राज खुद हैं।

संगीता राठौर कक्षा 9,
नेहरू इण्टर कालेज गुलडिया भिण्डारा मझोला पीलीभीत उत्तर प्रदेश

13- एक ऐसे बल्ब का निर्माण किया जाये जोे अपने आप दिन में बन्द रहें और रात होते ही जल जाये जिसकी किमत भी कम हो ।

नाम – ऋषभ कुमार वर्मा कक्षा 11
नेहरू इण्टर कालेज गुलडिया भिण्डारा मझोला पीलीभीत उत्तर प्रदेश

14- अपने माँ बाप को कभी भी दुखी मत रखो जो भी ऐसा करता है उसे एक दिन अपने बच्चों से ही दुख मिलता हैं।

नाम – अजय विश्वास कक्षा 11अ
नेहरू इण्टर कालेज गुलडिया भिण्डारा मझोला पीलीभीत उत्तर प्रदेश

15- हमारे यहां प्रदूषण बहुत तेजी से फैल रहा है इसे रोकने के लिये पेड – पाधे अधिक लगाया जाये हमें भी शामिल करें । हम भी इसको रोकने का प्रयास करेगें। और लोगो को सलाह देगें।

नाम- मनोज कुमार
नेहरू इण्टर कालेज गुलडिया भिण्डारा मझोला पीलीभीत

16- व्यक्ति अमीर हो या गरीब। छोटा हो या बडा। उसका आचरण उसके हाथ में होता हैं।

नाम- हर सिमरन सिंह कक्षा- 12
नेहरू इण्टर कालेज गुलडिया भिण्डारा मझोला पीलीभीत उत्तरप्रदेश

17 विषय- प्रदूषण की समस्या वायु प्रदूषण न हो इस पर रोक लगाने के लिए अधिक से अधिक वृक्ष लगाने चाहिए। पेडों की अंधा धुंध कटाई को रोकना चाहिए। घर- घर में षौचालय होना चाहिए। कारखानों को गांव तथा ष्षहर से दूर स्थापित करना चाहिए।

नाम- मुसाहिद खान कक्षा- 7
स्कूल- वाल विद्या मन्दिर जू0 हाई स्कूल माधौटांडा पीलीभीत

18 -विषय पर्यावरण से सम्बन्धित (सफाई) हमारे क्षेत्र में माधौटांडा की सडके साफ नही ़हैं। इस क्षेत्र के लोग यहां की सफाई यदि उत्तम रूप से करे तो वे इस क्षेत्र को साफ सुथरा बना सकते हैं। सडको के आस- पास व्रक्षारोपण करे जिससे हमारा पर्यावरण बना रहे हमें अपना पर्यावरण साफ – सुथरा बनाना चाहिए। कूडा – करकट सडकों पर पर नही फेकना चाहिए। व घरों के आस- पास फेकने से वायु प्रदूषण बढता हैं। हमें इसे रोकना चाहिए।

नाम- मनप्रीत कौर कक्षा- 9
स्कूल- वाल विद्या मन्दिर जू0 हाई स्कूल माधौटांडा पीलीभीत

19 – कोई ऐसे जूते बनाए जाए जो ठण्ड में गर्मी और गर्मी में ठण्ड का एहसास दिलाए।

नाम- जसपाल सिंह कक्षा- 7
स्कूल- वाल विद्या मन्दिर जू0 हाई स्कूल माधौटांडा पीलीभीत

20 -समाज सुधार – समाज को सुधारना चाहिए समाज में फैली बुराइयों को बंद कराना चाहिए। फैले हुए भ्रष्टाचार को मिटाना चाहिए। बच्चों को काम पर जाने से रोकना चाहिए। बच्चों को पढाई का पूरा अधिकार मिलना चाहिए। तरह- तरह के नसों को बंद करना चाहिए।

नाम- संजय सिंह कक्षा-7
स्कूल- वाल विद्या मन्दिर जू0 हाई स्कूल माधौटांडा पीलीभीत

21- मैं एक अच्छे स्कूल का अच्छा विद्यार्थी हूं। और मैं अपने सारे टीचरों से बहुत आदर व सम्मान करता हूं।
हमारे स्कूल में नल तथा लैटरीन भी बहुत अच्छी तथा साफ सुथरी हैं।
सडकों का विचार
हमारे गांव की सडके बेकार हो चुकी हैं। इसलिए अधिकारियों से निवेदन है कि जल्द से जल्द हमारे गांव की सडक बढिया तरह से बनवा दें।

बिजली का विचार
जब पेपर हमारे पास आते है तब पूरी तरह से लाइट की व्यवस्था क्यों नही हो पाती है। इसलिए आप से निवेदन है कि इन सब समस्याओं की व्यवस्था करें।
यहां तक की मैं पढ लिख कर एक अच्छा विद्यार्थी बनूं।

नाम- प्रधुम गुप्ता कक्षा-10
ए0 एस0 एकेडमी जू0 हाई स्कूल माधौटांडा पीलीभीत

22 -मेरा विचार यह है कि मैं बडा होकर फौजी बनूं और अपने देश की सेवा कर सकूं।

नाम- लबिन शर्मा कक्षा- 6
ए0 एस0 एकेडमी जू0 हाई स्कूल माधौटांडा पीलीभीत

23 – हमें अपने धर में मुख्य रूप से रसोई धर, साौचालय व वाॅथरूम की मुख्य रूप से सफाई रखनी चाहिए। क्योंकि इन्ही जगहों से सफाई न होने पर तरह – तरह की बीमारियां फैलने की संभावना रहती हैं। जिस कारण हम लोगों को ष्शारीरिक व आर्थिक नुकसान झेलना पडता हैं।

नाम- पूजा दीक्षा (अध्यापिका)
एजुकेशनल इनवाॅरन्मेंट सेन्टर
माधौटाण्डा पीलीभीत

24 – नयी बस्तियों का निमार्ण इस तरीके से सरकार कराये कि बीच का हिस्सा ऊँचा और चारों तरफ ढलान हो इससे बस्तियों का गन्दा पानी स्वतः बाहर निकल जायेगा। सरकार का सफाई में पैसा भी कम खर्च होगा और बस्तियों के नालों में बन्दगी भी नही जमा होगी।(इस विचार पर पाठक अपनी प्रतिक्रिया दें।

25 – हम लोगों को लगता है कि हमारा देश तरक्की कर रहा है लेकिन ऐसा है नही आज के समय में भी मैंने देखा है। कि बहुत से बच्चे ऐसे है जो धन के अभाव में पढाई नही कर पाते है। कुछ बच्चों से आज भी बथुआ मजदूरी कराई जाती है। अगर हम लोग एक होकर आवाज उठाएं तो जरूर ये बच्चे पढ सकेगे और इनके अन्दर कुछ करने की इव्छा होगी।

नाम-पूनम कक्षा-ग्यारह
विद्यालय- चै0 उमराव सिंह सरस्वती विद्या मंन्दिर इन्टर काॅलेज मझोला जिला पीलीभीत

26 – स्कूली शिक्षा के बारे में, मैं यह कहना चाहूंगी कि हमारे आस पास के क्षेत्र में सरकारी स्कूलों में उच्च शिक्षा और अच्छे अध्यापक चुनना। अधिकतर सरकारी स्कूलों के 6,7,8 के बच्चों को हिन्दी प लेना चाहिए की सरकारी स्कूलों में शिक्षा केवल नाम मात्र ही है। सरकारी स्कूल की शिक्षा से तो लगता है कि वहां जो अध्यापक है वह कम पढे लिखे है अगर आज के बच्चे अनपढ रहेगे तो हमारे आने वाली पीढी भी अनपढ रह जायेगी।

नाम- पूनम राय कक्षा- बारह
विद्यालय- चै0 उमराव सिंह सरस्वती विद्या मंन्दिर इन्टर काॅलेज मझोला जिला पीलीभीत

27 – मेरा और मेरे दोस्तो का विचार हैकि जब कोई गाडी आदि किसी गहराई में गिर जाती है और उसकी गहराई बहुत हो तो उसे बाहर निकालने के लिए एक ऐसा चुम्बक होना चाहिए जो उस गाडी को अपनी तरफ खीच ले और वह चुम्बक इतना भारी भी न हो।

नाम्-विकास, हिमांशु, रबि कक्षा- ग्यारह
विद्यालय- उमराव सिंह सरस्वती विद्यया मंन्दिर इन्टर काॅलेज

28 – मेरा विचार है कि मुझे मेरे देश में एक ऐसा जनित्र पाॅवर जनरेटर बनाना है, जो हमारे द्वारा फेंके जाने वाले कचरे,अनावश्यक वस्तुएं तथा अनुपयोगी कूडा- करकट द्वारा संचालित हो मेरा यह विचार कई छोटी-छोटी परेशानियों को दूर कर सकता हैजो कि हमारे देश पनप रही इन छोटी-छोटी परेशानियों को दूर करने से हमारा देश पुनः प्रगति की ओर अग्रसर हो सकता है। इस जनित्र के पूर्ण होने से हमारे देश के प्रधानमंत्री द्वारा चलाये स्वच्छता अभियान को बढावा मिलेगा तथा बिजली की बचत होगी।

नाम-कुशाग्त शुक्ला कक्षा ग्यारह
विद्यालय- उमराव सिंह सरस्वती विद्यया मंन्दिर इन्टर काॅलेज

2 comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.